उपराष्ट्रपति के लिए बढ़ी सरगर्मियां , ये हैं संभावित नाम

0
1011
Increased enthusiasts for Vice President, these are possible names

देश के राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति का चुनाव इस साल होना हैं और हर एक पार्टी अपने जिताऊ उम्मीदवार को मैदान में उतरने में लगी हुई हैं | मौजूदा उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी अपना दो बार का कार्यकाल पूरा करने जा रहे हैं, लिहाजा उनकी जगह पर देश का अगला उपराष्ट्रपति कौन हो इसपर मंथन शुरु हो गया है।

Increased enthusiasts for Vice President, these are possible names

बीजेपी की पसंद पे ही लगेगी मुहर

आपको बता दें कि उपराष्ट्रपति के चुनाव के लिए सिर्फ लोकसभा और राज्यसभा के सदस्य शामिल होते हैं और दोनों ही सदनों के सदस्य मिलकर उपराष्ट्रपति का चुनाव करते हैं। लोकसभा में भाजपा के पास पूर्ण बहुमत है और राज्यसभा में भी उसके पास पर्याप्त संख्या है लिहाजा पार्टी को अपनी पसंद का उपराष्ट्रपति चुनने में कोई मुश्किल नहीं होगी। आइए डालते हैं एक नजर कौन है उपराष्ट्रपति की रेस में

1 – हुकुमदेव नारायण

हुकुमदेव बीजेपी के सासद हैं और पूर्व केन्द्रीय मंत्री भी रह चुके हैं | ओबीसी वर्ग से आने वाले और जमीनी पकड़ रखने वाले हुकुमदेव का नाम इस लिस्ट में सबसे ऊपर चल रहा हैं और बीजेपी के कई सांसद इस नाम को अपनी पसंद बता चुके हैं | मोदी उनके तगड़े प्रशंसक हैं |

2 – बैंकैया नायडू

बैंकैया नायडू का भी नाम इस लिस्ट में दुसरे नंबर पर चल रहा हैं लेकिन एक बड़ा सांसद वर्ग इन्हें पसंद नहीं कर रहा | बीजेपी के आलाकमान अमित शाह ने साफ़ जाहिर किया की वह इस बार आंधप्रदेश में चुनाव लड़ सकते हैं इसके लिए आंध्र को खुश करने के लिए इन्हें जिम्मेदारी मिल सकती हैं |

3 – एससी जमीर

सेनायंबा चुबातोशी जमीर, जिन्हें एससी जमीर के नाम से जाना जाता है, वह मौजूदा समय में ओडिशा के राज्यपाल हैं। वह पूर्वोत्तर भारत से आते हैं। जमीर कांग्रेस के दिग्गज नेता हैं। कई भाजपा नेता इनके समर्थन में हैं, वह उन चुनिंदा नामों में से हैं जिन्हें मौजूदा सरकार ने राज्यपाल के पद से नहीं हटाया है।

4 – ईएसएल नरसिम्हन
आंध्र प्रदेश के राज्यपाल नरसिम्हन को मोदी सरकार ने हटाया नहीं और वह अभी भी इस पद पर बने हुए हैं। इन्हें 23 जनवरी 2010 में प्रदेश का राज्यपाल बनाया गया था, तबसे वह आजक प्रदेश के राज्यपाल बने हुए हैं। आंध्र प्रदेश के अलावा वह तेलंगाना के भी राज्यपाल हैं, जिसका निर्माण 2 जून 2014 को हुआ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here