हैदराबाद पहुचे पूर्व सीएम सिद्धारमैया, कांग्रेस नेताओं की अहम् बैठक

0
793

कर्नाटक की सियासत में लगातार नए बदलाव देखने को मिल रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अब सभी की निगाहें शनिवार शाम 4 बजे कर्नाटक विधानसभा में होने वाले फ्लोर टेस्ट पर टिक गई हैं। कर्नाटक में फ्लोर टेस्ट से पहले कांग्रेस और जेडीएस दोनों ही पार्टियों ने अपने विधायकों में किसी भी तरह की टूट से बचाने के लिए उन्हें हैदराबाद के ताज कृष्णा होटल में शिफ्ट कर दिया था। पार्टी ने हॉर्स ट्रेडिंग के डर से ये फैसला लिया। हालांकि अब सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद माना जा रहा है कि जल्द ही सभी विधायक बेंगलुरू वापस लौट आएंगे। इस सबके बीच कर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया हैदराबाद पहुंचे हैं। उन्होंने ताज कृष्णा होटल पहुंचकर विधायकों से मुलाकात की।

ताज कृष्णा होटल पहुचे-

कर्नाटक में जारी सियासी घमासान के बीच बड़ा सवाल यही है कि क्या कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदुरप्पा बहुमत साबित हासिल करने में सफल रहेंगे? येदुरप्पा ने दावा किया है कि हमें 100 फीसदी विश्वास है कि हम बहुमत साबित कर लेंगे। दूसरी ओर कांग्रेस और जेडीएस की नजर अपने विधायकों को अपने साथ जोड़े रखने पर है। यही वजह है कि दोनों पार्टियों ने अपने विधायकों को हैदराबाद के ताज कृष्णा होटल में शिफ्ट किया था। इस बीच कांग्रेस के नेता और कर्नाटक के पूर्व सिद्धारमैया हैदराबाद के ताज कृष्णा होटल पहुंचे।

हैदराबाद में सिद्धारमैया ने सभी विधायकों से मुलाकात की। इस दौरान माना जा रहा है कि उन्होंने पार्टी के सभी नए विधायकों के साथ बैठक भी की है। हालांकि कांग्रेस विधायक राजशेखर पाटिल ने बताया कि कोई बैठक नहीं हुई है। हालांकि उन्होंने जरूर कहा कि सिद्धारमैया ने विधायकों से मुलाकात की है।

विधायक का बड़ा बयान-

कांग्रेस विधायक राजशेखर पाटिल ने बताया कि सभी विधायक यहां हैं, हम जल्द बेंगलुरू के लिए निकलेंगे। यहां हमारी कोई बैठक नहीं हुई। सिद्धारमैया यहां आए हैं, हम जल्द ही यहां से रवाना होंगे। हम यहां 77 विधायक हैं। हम पर कोई दबाव नहीं है। ये हमारी सरकार है।

विधायक राजशेखर पाटिल का बड़ा बयान

गरमा गई है सियासत-

आपको बता दे की कल तक बीजेपी को बहुमत साबित करनी है| राज्यपाल वजुभाई वाला ने बीजेपी को पंद्रह दिन का समय दिया था जबकि सुप्रीम कोर्ट ने उसे चौबीस घंटे कर दिया है| सुप्रीम कोर्ट का कहना है की यह अनैतिक है और इतना समय नहीं दिया जा सकता है| बीजेपी की टीम लगातार जेडीएस और कांग्रेस के विधायको से सम्पर्क साधने में लगी हुई है| उनका कहना है की सरकार हम ही बनायेगे| अमित शाह भी लगातार अपनी सरकार का बहुमत साबित करने में लगे हुए है| अब देखना ये है की कल शाम चार बजे बीजेपी अपनी सरकार बना पाती है या नहीं| अगर बीजेपी फेल हुई तो कांग्रेस और जेडीएस मिलकर सरकार बना लेंगे|

Previous articleएक MLA वाली मायावती ने कर्णाटक में ऐसा रचा चक्रब्यूह, इसमें बुरी फस गई भाजपा
Next articleसरकार बनाने के बाद राहुल का मोदी पर बड़ा हमला, वो खुद में ही एक भ्रष्टाचार है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here