नैनो चिप नहीं ये इंक बताती है 2000 के नोट की लोकेशन

0
978
ink-tells-the-location-of-the-2000-notes

नोट बंदी के बाद से ही बड़े नोट आम जनता को मिल नहीं पा रहे है लेकिन  आयकर विभाग के छापों में नये नोटों की बरामदगी रोज़ ही हो रही है.  2000 का नोट जिस समय प्रचलन में आया था तब इस तरह की अफवाहें थी कि इस नोट में एल चिप लगी हुई है और ये अपनी लोकेशन खुद ही बता सकता है.

ink-tells-the-location-of-the-2000-notes

हालाँकि इस सभी बातों को RBI ने सिरे से खारिज कर दिया था लेकिन जिस तरह से गुलाबी नोटों के रखने की जगह आयकर की टीम पहुँच जाती है, बहुत लोगों को लगता है कि कहीं चिप की बात सही तो नहीं है.

सोशल साइट्स ने अब चिप के बाद एक नयी बात निकाली है. इसके अनुसार ये नोट एक खास तरह की इंक से छापे गये है, ये एक रेडियोएक्टिव इंक है. इस थ्योरी को इसलिए भी बल मिल रहा है क्यूंकि काफी देश इस तरह की इंक का प्रयोग करते है जो कि इंडिकेटर के तरह काम करती है.

ऐसा खा जा रहा है कि इस इंक में P32 फास्फोरस का रेडियोएक्टिव व आइसोटोप है. बहुत कम मात्रा में इसका इस्तमाल हुआ है. इसलिए ऐसे घरों में जहाँ अधिल संख्या में पैसा जमा है उनकी लोकेशन आयकर विभाग को मिल जाती है. हालाँकि अभी इसकी पुष्टि किसी सरकारी अधिकारी ने नहीं की है. लेकिन नये नोटों की रोज़ बरामदगी से ये साफ़ है कि कुछ तो ऐसा जो इन नोटों की लोकेशन के बारें में बता रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here