गुजरात में गरजे राहुल गाँधी , मोदी सरकार पे साधा निशाना

0
703

गुजरात जीतने के लिए अपने दौरे पे निकले राहुल गाँधी ने आज बड़ोदरा में अपना भाषण दिया और मोदी सरकार पे जमकर निशाना साधा | यहां उन्होंने भरूच के जंबुसर में एक चुनावी रैली को संबोधित किया। राहुल ने यहां आज किसानों से भी बातचीत की। बता दें कि दक्षिणी गुजरात के तीन दिवसीय दौरे की शुरुआत राहुल आज भरूच से की।  बता दें कि अपनी इस नवसृजन यात्रा के दौरान राहुल दक्षिण गुजरात के भरूच, तापी, वलसाड, नवसारी और सूरत जाएंगे और नुक्कड़ सभाओं, रैलियां को संबोधित करेंगे।इस दौरान राहुल किसानों और व्यापारियों से भी मुलाकात करेंगें |

Rahul Gandhi attacked Narendra Modi in Gujarat

राहुल गाँधी के भाषण की मुख्य बाते –

भरूच के एक गांव की सभा में राहुल गा्ंधी ने कहा कि  मंच पर छत है तो जनता के ऊपर भी छत हो। आगे से ऐसा ना हो कि, हम नेताओं के लिए छत हो और जनता धूप में हो | इसके अलावा उन्होंने पेट्रोल और डीजल की कीमतों पे मोदी सरकार को घेरते हुए कहा की पूरे विश्व में पेट्रोल की कीमतें घट रही हैं, भारत में यह क्यों बढ़ रहा है? इससे किसको लाभ मिल रहा है | गुजरात के व्यापारियों के बारे में बात करते हुए राहुल ने कहा की यहाँ सिर्फ 5 10 व्यापारी खुश हैं और वही मोदी जी का समर्थन कर रहे हैं और बाकी लोगो की तरफ सरकार का कोई ध्यान नहीं हैं | मेक इन इंडिया पे सवाल उठाते हुए कहा की माल चाइना में बनता हैं और बिकता भारत में हैं और चीन में हर रोज 50 हजार युवाओं को रोजगार मिलता है, देश में मोदी जी का मेक इन इंडिया 450 युवाओं को रोजगार देता है | राहुल ने मोदी से सवाल करते हुए कहा की जरा वो इस बात का हिसाब दे की तीन साल सत्ता में रहने के बाद भी उन्होंने कितने स्विस बैंक धारको को जेल में डाला | उन्होंने कहा की गुजरात में अगर आपके पास पैसा नहीं हैं तो आपका इलाज नहीं नहीं हो सकता | गरीबो और किसानो की बात करते हुए कहा की यहाँ किसानो को कुछ नहीं मिलता और वो बिजली पानी के नाम पे रो रहे हैं जबकि मोदी सरकार किसानो की सरकार होने का दावा करती हैं |

हार्दिक पटेल से भी मिल सकते हैं राहुल –

ऐसा अमुमान लगाया जा रहा है कि राहुल गांधी हार्दिक पटेल से मुलाकात कर सकते हैं। हार्दिक ने पहले उनके विरोध की बात कही थी पर अब उनके तेवर नरम हो गए हैं। गुजरात के दलित नेता जिग्नेश मेवाणी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने से जुड़ी खबरों को गलत करार दिया। उन्होंने कहा कि अगर वह गांधी से मिलते भी हैं तो उनका उद्देश्य दलित समुदाय को लेकर कांग्रेस के रुख के बारे में जानकारी हासिल करना होगा ना कि व्यक्तिगत लाभ प्राप्त करना होगा।

Previous articleकुमार बने आप के लिए अविश्वास , पार्टी ने पद से हटाया
Next articleराष्ट्रगान को लेकर सोनू निगम का दिया ये बयान खड़ा कर सकता हैं नया विवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here