बीजेपी विधायक ने जबरन बंद कराई दुकाने, कहा वोट लेने भी है जरूरी

0
647

सोमवार को दलित संगठनों के भारत बंद के आह्वान के बाद देशभर में हिंसा हुई, कई जगह प्रदर्शनकारियों में टकराव भी हुआ। मध्य प्रदेश से हिंसा की सबसे ज्यादा घटनाएं सामने आईं। सबसे ज्यादा आठ मौतें भी मध्य प्रदेश में हुई हैं। मध्य प्रदेश के कई शहरों से भाजपा से जुड़े संगठनों और प्रदर्शनकारियों में टकराव हुआ तो वहीं आगर क्षेत्र में भाजपा विधायक गोपाल परमार ने सत्ता की हेंकडी दिखा जबरदस्ती दुकानें बंद करवाईं। उन्होंने कहा कि ऐसा ना करने पर अनुसूचित जाति के वोट छिटक जाते।

BJP MLA forcibly closed shops, said it is also necessary to vote

वही किया जो करना चहिये –

मध्य प्रदेश के आगर से भाजपा के विधायक गोपाल परमार ने यहां बाजार में घूम कर दुकानें बंद कराईं। इसको लेकर कई जगह उनकी दुकानदारों से बहस भी हुई। कई जगहों पर परमार जबरन दुकानें बंद करवाते देखे गए। दुकान बंद कराने को लेकर कारोबारियों से बहस और नोकझोंक की तस्वीरों और वीडियो आने पर उन्होंने इसको लेकर कहा कि ऐसा जरूरी था, उन्होंने वहीं किया जो उन्हें करना चाहिए था। अगर वो ऐसा नहीं करते तो उनके राजनीतिक विरोधी इस हालत का फायदा उठाने की कोशिश करते। मध्य प्रदेश की आगर सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है, यहां से गोपाल परमार विधायक हैं। उनका कहना है कि भाजपा की पकड़ यहां कमजोर ना हो इसलिए उन्होंने बाजार बंद कराया। उन्होंने कहा कि अगर मैं प्रदर्शनकारियों के साथ नहीं गया होता तो पार्टी की राजनीतिक पकड़ यहां कमजोर पड़ती और विरोधी फायदा उठाते। परमार ने कहा कि आगर सीट में अनुसूचित जाति के लोग ही ज्यादा हैं और वे बंद के समर्थन में थे, ऐसे में उन्होंने खुद बाजार में जाकर दुकानें बंद कराईं।

सबसे ज्यादा हिंसा एमपी में –

सोमवार को सुप्रीम कोर्ट के एससी-एसटी एक्ट पर फैसले के खिलाफ दलित संगठनों के बुलाए भारत बंद ने कई शहरों में हिंसक रूप ले लिया था। मध्य प्रदेश में हिंसा के बाद कई शहरों मे कर्फ्यू भी लगाना पड़ा है। मध्य प्रदेश में ही सबसे ज्यादा मौते हुई हैं। हालांकि आगर से हिंसा की कोई खबर नहीं है। उत्तर प्रदेश के भी कई शहरों में धारा 144 लगी हुई है। ज्यादातर जगहों पर स्कूल-कॉलेज बंद हैं। कई शहरों में हालात अभी भी तनावपूर्ण हैं।

गोली चलाने वाले के खिलाफ केस दर्ज –

भारत बंद के दौरान ग्वालियर में रिवाल्वर से फायरिंग करने के आरोपी राजा चौहान के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। राजा के खिलाफ मंगलवार को मामला दर्ज किया गया है। सोमवार को हिंसा के दौरान का एक वीडियो सामने आया था, जिसमें ये शख्स रिवाल्वर से सीधे लोगों की तरफ फायरिंग करता नजर आ रहा है। वीडियो के मीडिया में आने के कुछ घंटे बाद ही बसपा नेता देवाशीष जरारिया ने ट्विटर पर गोली चलाने वाले शख्स की पहचान करने का दावा करते हुए ट्वीट किया कि गोली चलाने वाला दलित नहीं है।

Previous articleभारत बंद के समीकरण बीजेपी के खिलाफ, गिर सकती है सरकार
Next articleराहुल ने पियूष गोयल को बताया “शिर्डी का चमत्कार”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here