चंद्रबाबू ने तोड़ा बीजेपी से नाता , मनाने में लगे पीएम मोदी , मुश्किल में बीजेपी

0
872
Chandrababu broke ties with bjp

टीडीपी के मुखिया चंद्रबाबू नायडू ने बीजेपी से अपने रिश्ते खत्म कर लिए है और इसकी वजह है आँध्रप्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा ना मिलना | तो वही बीजेपी और टीडीपी के बीच खटास की खबरों के बीच सुलह की कोशिशे भी तेज हो गई हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू से फोन पर बात की है। खबर है कि दोनों लोगों के बीच करीब 20 मिनट तक बातचीत हुई है। बातचीत के दौरान चंद्रबाबू नायडू ने मंत्रियों के इस्तीफे के फैसले के पीछे की वजह पीएम  को बता दी है। वहीं केंद्र सरकार में टीडीपी कोटे के दोनों मंत्री शाम 6 बजे पीएम मोदी से मिलने वाले हैं। आपको बता दें कि आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा ना दिए जाने से टीडीपी केंद्र सरकार से नाराज है।

Chandrababu broke ties with bjp

कुछ यूं हुई घोषणा –

आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग पर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में बुधवार को मतभेद हो गया है। आंध्र के मुख्यमंत्री और तेलुगु देसम पार्टी (टीडीपी) के प्रमुख चंद्रबाबू नायडू ने मोदी सरकार से अपने दो मंत्रियों को हटा लेने की घोषणा कर दी। उन्होंने कहा कि केंद्र में टीडीपी कोटे के दोनों कैबिनेट मंत्री यानी अशोक गजपति राजू (केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री) और वाईएस चौधरी (विज्ञान और तकनीकी राज्य मंत्री) गुरुवार को इस्तीफा दे सकते हैं। साथ ही यह भी कहा कि उनकी पार्टी राजग से भी अलग हो सकती है। नायडु की शिकायत है कि पहले भाजपा नेतृत्व ने प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने का वादा किया था लेकिन फिर उनका कहना था कि सभी राज्यों से ये दर्जा वापस ले लिया जाएगा | उनका दावा है कि ये बात कहे जाने के बाद ही वो स्पेशल पैकेज पर राज़ी हुए थे | क्योंकि अभी विशेष दर्जा वजूद में है, ऐसे में आंध्र प्रदेश को ये तुरंत मिलना चाहिए | इस बीच वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सोमवाल को आंध्र के प्रतिनिधियों से मुलाक़ात की थी और ऐसा बताया गया कि उन्होंने ये साफ़ कर दिया कि स्पेशल पैकेज दिया जा सकता है लेकिन प्रदेश के विशेष राज्य का दर्जा मिलने का सवाल नहीं है | भाजपा का कहना है कि पिछड़े होने के तर्क पर आंध्र प्रदेश को ये दर्जा नहीं दिया जा सकता क्योंकि इस हिसाब से बिहार को ये दर्जा मिलना चाहिए | टीडीपी टैक्स रियायतों की मांग कर रही है |

जाहिर है की इस गठबंधन के टूटने के बाद बीजेपी को मुश्किल हो सकती है और कांग्रेस इस बात का पूरा फायदा उठाती हुई दिख रही है | राहुल गांधी ने अभी हाल ही में दिए एक बयान में कहा था की अगर उनकी पार्टी आगामी लोकसभा चुनाव जीतकर सत्ता में आती है तो वो आँध्रप्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देगे |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here