मारा गया हिजबुल मुजाहिदीन का कमांडर . सेना ने कई आतंकी किये ढेर

0
1148

भारतीय सेना के जवानों ने त्राल में हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर सबजार भट को मार गिराया हैं | बाते जा रहा हैं की वाज बुरहान वानी के एनकाउंटर के बाद हिजबुल का चीफ बना था |

बानी की मौत के बाद बना कमांडर

सबजार को 10 जुलाई 2016 को हिजबुल का कमांडर बनाया गया था। आठ जुलाई को वानी की एनकाउंटर में मौत हो गई थी। सबजार भट की उम्र 21 वर्ष थी और वह वानी के काफी करीब था। वर्ष 2015 में वह हिजबुल का हिस्‍सा बना था। सबजार ने हिजबुल में शामिल होने का फैसला तब लिया जब वानी के भाई को एनकाउंटर में मार गिराया गया था। सबजार को महमूद गजनवी के नाम से भी जानते हैं। हिजबुल के मुखिया सैय्यद सलाउद्दीन की ओर से सबजार के नाम का ऐलान एक लोकल न्यूज एजेंसी केएनएस के जरिए किया गया था। शुक्रवार और शनिवार को सेना ने कश्‍मीर में आठ आतंकियों को मारा है।

The commander of Hizbul Mujahideen was killed

रामपुर में भी हुए आतंकी ढेर

शनिवार को रामपुर सेक्‍टर में भी घुसपैठ की कोशिश हुई और इसमें भी चार आतंकियों को मार गिराया गया है। बारामूला के रामपुर में एनकाउंटर तड़के उस समय शुरू हुआ जब जवानों ने एलओसी पर संदिग्‍ध गतिविधियां देखीं। सेना के आधिकारिक बयान में कहा गया कि घुसपैठ की कोशिश को सफलतापूर्वक रोक दिया गया है। इससे पहले शुक्रवार को उरी सेक्‍टर में सेना ने पाकिस्‍तान की बॉर्डर एक्‍शन टीम (बैट) के दो आतंकियों को मार गिराया था। यह सैनिक एक बार फिर से ने भारतीय सैनिकों का सिर कलम करने की साजिश से आए थे। एक मई को जम्‍मू कश्‍मीर के पुंछ में बैट ने ही दो भारतीय जवानों के सिर कलम कर दिए थे।

कश्मीर में बंद हुआ इन्टरनेट

हिजबुल के चीएफ़ की मौत के बाद सरकार ने कश्मीर में इन्टरनेट बंद कर दिया हैं | जाहिर हैं की यह बैन दो दिन पहले ही हटा था लेकिन आतंकी घटनाओं की साजिश को रोकने के लिए सेना ने इसे फिर से बंद करवा दिया हैं |

Previous articleसहारनपुर हिंसा: बसपा व भाजपा के आरोप-प्रत्यारोप दोनों ही दलों की नाकामी बयान कर रहे हैं.
Next articleभारत लौट के उज्मा ने बताई पकिस्तान में हुई धोखे की कहानी , सरहद पे चूमा वतन को

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here