विधानसभा चुनाव की तारीखों का हुआ एलान. आज से लागू हुई आचार संहिता.

0
871
EC announced dates of elections. Code of Conduct came into effect from today.

चुनाव आयोग ने देश के पांच राज्यों में होने वाले चुनावों की तारीख का एलान आज कर दिया. ये घोषणा दिल्ली में हुई एक प्रेस कांफ्रेस में मुख्य निर्वाचन आयुक्त नसीम जैदी ने की. जिन पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं वो यें हैं उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, मणिपुर और गोवा हैं. ये चुनाव चुनाव 4 फरवरी से शुरू होंगे और 11 मार्च तक नतीजे आयेंगे. पांच राज्यों की कुल 690 विधानसभा सीटों पर चुनाव होंगे. इन राज्यों के 16 करोड़ मतदाता अपने अधिकार का प्रयोग करेंगे.

EC announced dates of elections. Code of Conduct came into effect from today.

इन विधानसभा चुनावों में  पोलिंग बूथ के पास एक वोटर अस्टिेंस बूथ होगा. साथ ही मतदाता के मतदान की गोपनीयता बनाए रखने के लिए 30 इंच ऊंची स्टील और अन्य सामग्री से बनी छोटी केबिन का इस्तेमाल किया जाएगा. ईवीएम में उम्मीदवारों की तस्वीर होगी. दिव्यांग वोटरों के लिए अगल व्यवस्था होगी. 690 में से 133 सीटें सुरक्षित हैं.

चुनावों की घोषणा होने के बाद आज से ही आचार संहिता लागू हो जायेगी. उत्तर प्रदेश में पहले चरण में 15 जिलों की 73 सीटों के लिए 11 फरवरी, दूसरे चरण में 67 सीटों के लिए 15 फरवरी, तीसरे चरण में 69 सीटों पर 19 फरवरी, चौथे चरण में 53 सीटों के लिए 23 फरवरी, पांचवे चरण में 52 सीटों पर 27 फरवरी, छठे चरण में 43 सीटों के लिए 4 मार्च और अंतिम चरण में 40 सीटों के लिए 8 मार्च को मतदान होगा .

मणिपुर में दो चरणों में चुनाव होंगे. गोवा और पंजाब में 4 फरवरी को मतदान होगा. उत्तराखंड में वोट 15 फरवरी को दिए जायंगे . मणिपुर में पहले चरण के मतदान 4 मार्च को और दूसरे चरण की वोटिंग 8 मार्च को होगी.

इन चुनावों में कानून व्यवस्था को बनाये रखने के लिए राज्य पुलिस बलों के साथ एक लाख अर्धसैनिक बलों की तैनाती की जा सकती है. लेकिन गृह मंत्रालय ने 85 हजार सुरक्षाकर्मी देने की बात की है। अर्धसैनिक बलों के अलावा राज्यों के पुलिस बल भी चुनाव ड्यूटी पर तैनात किए जाएंगे.

चुनाव आयोग ने चुनावों की तारीख की घोषणा करने से पहले मार्च में होने वाली बोर्ड की परीक्षाओं को देखते हुए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड और राज्यों के बोर्ड के साथ भी विचार-विमर्श किया है.  चुनाव तारीखों की घोषणा करते समय परीक्षाओं का व अन्य सभी पहलुओं का भी ध्यान रखा गया हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here