प्रधानमंत्री मोदी का अखिलेश व मायावती पर तंज, कहा बुआ-भतीजे का मेल नहीं बैठ रहा

0
760

प्रधानमन्त्री मोदी आज  छठे चरण के चुनाव प्रचार के लिए मऊ पहुंचे. यहाँ पीएम मोदी ने 2014 में चुनाव प्रचार के लिए मऊ न आ पाने के कारण यहाँ की जनता से माफी मांगी. आज पीएम मोदी ने एक बार फिर गुजरात के गधों के बहाने अखिलेश पर पलटवार किया. पीएम मोदी ने अखिलेश पर तंज कसते हुए कहा कि अखिलेश के दिमाग में विकास होता तो वे गधों की बात नहीं करते. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यदि अखिलेश को  पता होता गुजरात के समुद्री तट कर कंडला नाम का बंदरगाह है.

PM Modi comments on Akhilesh and Mayawati'

कंडला से गोरखपुर तक 5 हजार करोड़ रुपयों से एक गैस की पाइप लाइन बिछाई जा रही है. घरों में जैसे नल से पानी आता है, वैसे नल से गैस आएगी. विकास का एक बहुत बड़ा काम 5 हजार करोड़ रुपये से, गुजरात से कंडला से हम पाइप लाइन लाएंगे. गुजरात को याद करना तो गधों को याद कीजिए वो गधे भी तो शानदार हैं लेकिन कभी कंडला को भी याद कीजिए

भाजपा की जीत की बात करते हुए पीएम मोदी बोलें कि पहले ही दौर से जिस प्रकार से भारतीय जनता पार्टी और साथ दलों के लिए जनसमर्थन उभर कर आया है, जैसे जैसे चुनाव के दौर उभरते जा रहे हैं सब लोगों ने मान लिया है कि यूपी में भारतीय जनता पार्टी और उनके साथी दलों की सरकार बन जाएगी.समाजवादी व कांग्रेस में गठबंधन पर पीएम मोदी ने कहा कि  चुनाव घोषित हो गया तो समाजवादी पार्टी को डर लग गया कि जीत नहीं पाएंगे, तो आनन फानन में वे कांग्रेस की गोद में जाकर बैठ गए. मोदी ने कहा कि ये दोनों पार्टियां त्रिशंकु विधानसभा बनाना चाहती हैं ताकि इन्हें जोड़-तोड़ का मौका मिले. लगे हाथ पीएम मोदी ने बसपा सुप्रीमो पर भी तंज कास दिया कि बुआ-भतीजे (मायावती व अखिलेश यादव) दोनों परेशान हैं, दोनों का कोई मेल नहीं बैठ रहा.

उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में विकास की रफ़्तार अभी भी धीमी हैं, इस पर भी पीएम मोदी ने कांग्रेस को घेरा. पीएम मोदी ने कांग्रेस पर आरोप लगते हुए कहा कि  कांग्रेस की सरकारों ने इस इलाके को पिछाड़ा बनाकर रखा है. यही काम यूपी की समाजवादी पार्टी की सरकार ने भी किया है. उन्हें सजा मिलनी चाहिए.

Previous articleबीजेपी ज्वाइन करके काशी पहुचे भोजपुरी कलाकार रवि किशन
Next articleअखिलेश ने दी योगी आदित्यनाथ को तार पकड़ कर बिजली चेक करने की सलाह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here