रईस देखने का मन हो तो पहले पढ़ ले ये रिव्यु

0
700

बॉलीवुड के किंग कहे जाने वाले शाहरुख़ की बहुचर्चित फिल्म आज सिनेमाघरों में रिलीह हो गई | फिल्म की कहानी यूं तो साधारण कही जा सकती है लेकिन फिल्म को शानदार तरीके से पेश किया गया है। इस फिल्म का निर्देशन राहुल ढोलकिया ने किया है। पूरी फिल्म मनोरंजन, एक्शन और रोमांस के रंगों से भरी हुई है। यह फिल्म गुजरात में अवैध शराब का कारोबार करने वाले कुख्यात अपराधी अब्दुल लतीफ का फिल्मी संस्करण है जिस पर ग्लैमर का तड़का लगा गया है।

Raees trailer broke all records in 24 hours

फिल्म की कहानी –

फिल्म की कहानी गुजरात के फतेहपुर से शुरू होती है । यह फिल्म रईस नाम के एक शख्स के बारे में बताती है जो जिंदगी में कुछ बड़ा करना चाहता है। किंग खान की यह फिल्म रईस की जिंदगी में आते उतार-चढ़ाव को दिखाती है। फिल्म में दिखाया गया है कि किस तरह जीरो से शुरू होकर रईस एक बड़ा साम्राज्य खड़ा कर लेता है।

रईस अपनी मां की बात ‘कोई धंधा छोटा नहीं होता और धंधे से बड़ा कोई धर्म नहीं होता है’ को गांठ बांध कर आगे बढ़ता है और अवैध शराब के कारोबार करने लगता है। रईस कामयाबी की सीढ़ियां अपने चढ़ता चला जाता हैं लेकिन उसकी मुश्किल तब बढ़ जाती है जब उसके इलाके में पुलिस ऑफिसर जयदीप मजमुदार (नवाजुद्दीन सिद्धिकी) आता है। जो अवैध शराब कारोबारियों के सख्त खिलाफ है। रईस को अपने इलाके की रहनेवाली मोहसिना (माहिरा खान) से प्यार है और उससे शादी कर वो अपना घर भी बसा लेता है फिर धीरे-धीरे रईस गुजरात में बड़ा नाम बन जाता है और वहा का बड़ा डॉन बन जाता। रईस अपने इलाके का मसीहा भी हैं और फिर उसके बाद फिल्म की कहानी कई जगहों पर यू-टर्न लेती है और फिर । आगे की कहानी जानने के लिए आपको सिनेमाघरों में जाकर फिल्म देखनी होगी।

एक्टिंग –

एक्टिंग के लिहाज से शाहरूख खान को नवाजुद्दीन सिद्दिकी ने बराबर की टक्कर दी है। शाहरूख को देखकर ऐसा लगता है जैसे वह किरदार में पूरी तरह समा गए हो। चाल-ढाल,डायलॉग डिलिवरी और हाव-भाव पूरी तरह से उसी किरदार का नजर आता है जो उन्होंने परदे पर निभाया है। नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने अभिनय के मामले में शाहरूख को कड़ी टक्कर दी है। फिल्म कुछ जगहों पर कमजोर पड़ी भी है तो वह इन दोनों अभिनेताओं ने अपने एक्टिंग से संभाल लिया है और इस कमी को झलकने नहीं दी है। माहिरा खा ने भी अच्छी एक्टिंग की हैं |

रईस’ के संवाद आपको ताली और सीटियां बजाने को विवश कर देंगे। स्क्रिप्ट कसी हुई है और सींस का फिल्मांकन भी दमदार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here