अलवर माँब लिंचिंग केस पर बोले राहुल क्या यही है मोदी का न्यू क्रूर इंडिया?

0
629

नई दिल्ली: राजस्थान के अलवर में गौ तस्करी के शक में भीड़ द्वारा रकबर नामक शख्स की पीट-पीटकर हत्या करने के मामले में अब सियासत गर्माती जा रही है। मामले में कथित तौर पर अलवर पुलिस की लापरवाही सामने आने के बाद विपक्ष ने भाजपा और वसुंधरा सरकार पर हमले तेज कर दिए हैं। राजस्थान कांग्रेस के नेताओं ने सीधे तौर पर आरोप लगाया है कि भाजपा सरकार इस तरह की घटनाओं को बढ़ावा दे रही है। वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मामले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है।

मानवता को नफरत में बदला गया है– राहुल गांधी ने अलवर में मॉब लिंचिंग की घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाने पर लेते हुए ट्वीट किया है, ‘अलवर में भीड़ की हिंसा का शिकार हुए रकबर खान को केवल 6 किलोमीटर दूर स्थित अस्पताल में पहुंचाने में पुलिस को 3 घंटे का समय लगा। क्यों? रास्ते में उन्होंने चाय के लिए ब्रेक भी लिया। यह मोदी का क्रूर ‘न्यू इंडिया’ है, जहां मानवता को नफरत में बदल दिया गया है, लोगों को कुचल दिया जाता है और मरने के लिए छोड़ दिया जाता है।’

पियूष गोयल ने दिया जवाब– इस मामले में राहुल गांधी के सवाल उठाने पर पीयूष गोयल ने उन्हें नफरत का सौदागर कहा है। केंद्रीय रेलमंत्री पीयूष गोयल ने राहुल गांधी को जवाब देते हुए ट्वीट किया ‘राहुल गांधी हर एक क्राइम पर खुशी से उछलना बंद करो. राज्य मामले पर सख्त कार्रवाई कर रहा है। आप हर मौके पर समाज को बांटने की कोशिश करते हो और फिर घड़ियाली आंसू बहाते हो। बहुत हो गया, तुम नफरत के सौदागर हो|

rahul gandhi on mob lynching

सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी हुई दर्ज– इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दाखिल की गई है। सुप्रीम कोर्ट में अलवर मॉब लिंचिंग का हवाला देते हुए राजस्थान सरकार के खिलाफ कोर्ट की अवमानना का आरोप लगाते हुए याचिका दायर की गई है। सुप्रीम कोर्ट इस मामले में राजस्थान के अलावा हरियाणा और उत्तर प्रदेश सरकार के खिलाफ अवमानना के आरोपों पर 20 अगस्त को सुनवाई करेगा।

पुलिस की घोर लापरवाही– गौरतलब है कि राजस्थान के अलवर में गौ तस्करी के शक में भीड़ द्वारा रकबर खान नामक शख्स की पीट-पीटकर हत्या करने के मामले में पुलिस की लापरवाही सामने आई है। पुलिस पर घायल रकबर को देरी से अस्पताल ले जाने का आरोप लगा है। इस मामले में एफआईआर से पता चला है कि पुलिस को घटना के बारे में 12.41 बजे फोन आया और वो 1.20 बजे करीब मौके पर पहुंची। पुलिस के साथ गए नव‍ल किशोर के मुताबिक, पुलिसकर्मियों ने पहले रकबर के शरीर को धोया क्‍योंकि वो कीचड़ से सना था। इसके बाद नवल किशोर के घर से उन्‍होंने गाड़ी का इंतजाम किया ताकि गायों को स्‍थानीय गौशाला ले जाया जा सके। घायल को अस्पताल ले जाते समय पुलिस ने रास्ते में रुककर चाय भी पी।

Previous articleक्या गले मिलने पर सारी गलती राहुल गाँधी है? मोदी ने भी तो नहीं दिखाया बड़प्पन
Next articleमध्यप्रदेश विधानसभा चुनावो से पहले बीजेपी को लगा झटका, कांग्रेस ने जीती 7 में से 6 सीटें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here