उद्योग और वाणिज्य के साथ नागरिक उड्डयन भी संभालेगे सुरेश प्रभु

0
563

मोदी सरकार के कद्दावर नेता और वर्तमान वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु को एक और अहम् जिम्मेदारी दी है | टीडीपी कोटे के मंत्री अशोक गजपति राजू के मोदी मंत्रीमंडल से इस्तीफे के एक दिन बाद नागरिक उड्डयन मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार सुरेश प्रभु को सौंपा गया है। आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग को लेकर अशोक गजपति राजू समेत टीडीपी कोटे के दो मंत्रियों ने मोदी कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया था। राष्ट्रपति भवन के प्रवक्ता ने बताया है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इन मंत्रियों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है।

Suresh Prabhu will also take civil aviation ministry alongwith industry and commerce ministry

राष्ट्रपति भवन के प्रवक्ता ने बताया कि टीडीपी कोटे के दोनों मंत्रियों के इस्तीफे के बाद सिविल एविएशन मंत्रालय की जिम्मेदारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास था। इसको लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पीएम मोदी की सलाह के आधार पर सुरेश प्रभु से नागरिक उड्डयन मंत्रालय का कार्यभार संभालने को कहा है। तेलगुदेशम पार्टी के अध्यक्ष और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने विशेष दर्जे की मांग को लेकर केंद्र सरकार से टीडीपी कोटे के मंत्रियों का इस्तीफा दिलवा दिया था। टीडीपी के दो मंत्री अशोक गजपति राजू और वाई.एस.चौधरी ने इस्तीफा दिया है। अशोक गजपति राजू को मोदी सरकार में नागरिक उड्डयन मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई थी, उनके इस्तीफे के बाद ये जिम्मेदारी सुरेश प्रभु को सौंपी गई है। जाहिर है की चंद्रबाबू नायडू आँध्रप्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा ना मिलने की वजह से लम्बे समय से बीजेपी से नाराज चल रहे थे और आख़िरकार उन्होंने बीजेपी से अपना गठबंधन तोड़ लिया | वही कांग्रेस ने इस बात का फायदा उठाया और राहुल गाँधी ने कहा की अगर हमारी सरकार आगामी लोकसभा चुनावों में जीतती है तो हम आँध्रप्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देंगे |

Bipal Kumar sworn in as CM of tripura in the presence of Modi

विवादों के बाद छोड़ा था रेल मंत्रालय –

आपको बता दे की सुरेश प्रभु पहले रेल मंत्रालय देखते थे लेकिन देशभर में हुई काफी रेल दुर्घटनाओ की वजह से उनके ऊपर कई सारे आरोप लगने शुरू हो गए जिसके चलते उन्हें रेल मंत्रालय से हटाकर उद्योग में भेजा गया | इस समय वर्तमान में पियूष गोयल रेल मंत्रालय संभाल रहे है और उनके आने के बाद रेलों की हालत काफी हद तक सही हुई है और रेल दुर्घटनाएं कम हुई है | सुरेश प्रभु के समय में देशभर में कई सारी रेल घटनाएँ हुई जिनमे कानपुर में हुआ हादसा मुख्य था और इसके बाद उनके खिलाफ विरोधियो का स्वर तेज हो गया था और कहा जा रहा था की इस हादसे में isis का हाथ है जिसके चलते सुरेश प्रभु भारी विवादों में आये थे | हालाँकि नागरिक उड्डयन मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार देने से बीजेपी के अंदर कुछ ऐसी खबर आ रही है की मंत्री बनने की टाक में बैठे बहुत सारे नेता नाराज हो सकते है |

Previous articleराजनीति में आते ही हिमालय यात्रा पर निकले रजनीकांत, जानिये वजह
Next articleअपने पिता के हत्यारों को लेकर राहुल ने कही ये बड़ी बात, मोदी सरकार पे सीधा निशाना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here