भारत का एक ऐसा प्राचीन मंदिर जिसका दरवाजा कभी नहीं खोला गया, आखिर क्या है इसके पीछे..?

0
1286

प्राचीन काल से ही मंदिर को पृथ्वी का सबसे पवित्र स्थल माना जाता है यहां हर एक व्यक्ति अपनी समस्याओं को लेकर ईश्वर के पास आता है चाहे वह अमीर हो या गरीब यहां सबके लिए समान व्यवहार होता है देश में कई ऐसे मंदिर मौजूद हैं जहां लाखों करोड़ों रुपए दान कर दिए जाते हैं जो अपने चमत्कार और विशेष रोचक घटनाओं और कहानियों के लिए प्रसिद्ध होते हैं देश में ऐसे कई बड़े-बड़े मंदिर भी है जहां ऐसे ऐसे चमत्कार होते हैं जिन्हें देखकर आपको सुनी हुई बातों पर यकीन नहीं होगा आज हम आपको एक ऐसे ही मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं जिस के रहस्य को जानने के बाद आप खुद भी हैरान हो जाएंगे तो आइए जानते हैं ऐसा क्या खास रहस्य है इस मंदिर के पीछे..?

पद्मनाभस्वामी मंदिर-

यह एक ऐसा मंदिर है जिस के रहस्य को उजागर करने के लिए अब तक कोर्ट का दरवाजा भी खटखटाया जा चुका है लेकिन इस मंदिर के रहस्य की गुत्थी सुलझने का नाम ही नहीं ले रही है जी हां दोस्तों आज से कुछ समय पहले ही इस मंदिर को लेकर एक बहुत बड़ा विवाद सामने आया था लेकिन इस विवाद के बाद भी मंदिर के अंदर ऐसी क्या चीज़ मौजूद है इस बात का पता अभी तक नहीं लगा पाया है कई सदियों से इस मंदिर को लेकर कई तरह की अफवाह फैलाई जा रही थी शायद यही वजह है कि इन सभी अफवाहों के कारण इस मंदिर के अंदर वास्तविकता में क्या है यह कारण आज भी नहीं पता लगाया जा सका हालांकि वास्तविकता में जो भी हो लेकिन आज हम आपको इस मंदिर से जुड़े हुए हर रहस्य और अफवाहों के बारे में बताने जा रहे हैं तो आइए देखते हैं कि आज की इस रिपोर्ट में क्या खास है


दरअसल जिस मंदिर के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं उस मंदिर के भीतर बहुत बड़ा खजाना होने की संभावनाएं जताई जा रही है लेकिन केवल यह एक बात ही नहीं बल्कि इस मंदिर से जुड़ी हुई न जाने कितनी सारी संभावनाएं मंदिर को लेकर जताई जा रही है कारण जो भी हो किसी भी संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है क्योंकि यह सच तो तभी लोगों के सामने आएगा जब इस मंदिर का दरवाजा खोला जाएगा आपको बता दें कि यह मंदिर केरल में स्थित है और इस मंदिर को पद्मावत स्वामी मंदिर के नाम से जाना जाता है और यह अपनी होने वाली अफवाहों के कारण पूरे किरण ही नहीं बल्कि पूरे भारत में प्रसिद्ध हो चुका है और दूर-दूर से लोग इस मंदिर के दर्शन करने के लिए आते हैं

इस मंदिर को लेकर न जाने कहीं बाहर कानूनी कार्यवाही करने की बातें भी सामने आई है लेकिन इन सब में से कुछ भी काम नहीं आया है खबरों के मुताबिक बात करें तो इस मंदिर के अंदर एक ऐसा तहखाना है जिसमें खजाना होने की पूरी तरह से संभावना जताई जा रही है लेकिन यह मामला इस बात पर पूरी तरह से रुक गया कि अगर इस दरवाजे को खोला गया तो पूरी दुनिया में प्रलय मच जाएगा अर्थात तबाही आ जाएगी इसका मतलब तो साफ है इस मुद्दे को धर्म और ईश्वर के साथ खिलवाड़ करने की बात रखते हुए भले ही खत्म कर दिया गया हो लेकिन रहस्य तो जैसा का तैसा ही उस दरवाजे के अंदर बंद पड़ा है.

मंदिर को खोलने के लिए दिए गए तर्क

जानकारी के मुताबिक आपको बता दें कि इस मंदिर के पास जो ही तहखाने अर्थात इन के दरवाजे को कोर्ट के आदेश के अनुसार खोला जा चुका है और अब तक इन तहखानों में से खरबों की संपत्ति प्राप्त हुई है लेकिन यह छठा दरवाजा खोलने के लिए कोड भी मना कर रहा है और इसे न खोले जाने के पीछे यह तर्क दिया जा रहा है कि पद्मनाभस्वामी मंदिर का छठा तहखाना भगवान विष्णु के आसन के नीचे हैं और ऐसे में यदि इस दरवाजे को खोला गया तो भगवान विष्णु क्रोधित हो जाएंगे जिसकी वजह से ना केवल इसे खोलने वाले का अहित होगा बल्कि यह दरवाजा खोलने से पूरे विश्व को नुकसान पहुंचेगा.

याचिकाकर्ता की तीन हफ्तों के बाद हुई मौ

इस दरवाजे को न खुलने के पीछे के रहस्य को उजागर करने के लिए जब एक शख्स ने याचिका दायर की तो उसके 3 हफ्ते बाद ही उस शख्स की मौत हो गई हालांकि इस दरवाजे को खोलने के लिए कोर्ट ने भी पूरा प्रयत्न किया लेकिन देवी इच्छाओं को मानकर मामले को रफा-दफा करने की बात भी सामने आने लगी जानकारों की मानें तो छठा दरवाजा तीन दरवाजों के पीछे सुरक्षित लगा हुआ है सबसे पहला दरवाजा लोहे का है और बीच का दरवाजा लकड़ी का बना हुआ है अंत में आने वाला लोहे का दरवाजा काफी बड़ा और मजबूत है जिसे खोलना हर किसी के बस की बात नहीं है.

मंदिर के छठे दरवाजे पर ऐसे दी गई है चेतावनी

मंदिर के दरवाजे पर जहरीले और डरावने सांपों की छवि भी बनाई गई है और खबरों की मानें तो यह छवि इस बात का संकेत देती है कि यदि इसे खोलने की किसी ने भी कोशिश की तो उसके साथ बहुत बुरा हो सकता है और इतना ही नहीं यह प्रभाव पूरी दुनिया पर हो जाएगा और पूरी दुनिया तबाह हो जाएगी इस बात में कोई दो राय नहीं है कि इंसानों को इस दरवाजे का रक्षक माना जा रहा है इन सबके अलावा यह खबर भी अब तक आ चुकी है कि इस दरवाजे को खोला जा चुका है जी हां कहा जाता है कि 150 साल पहले इस दरवाजे को खोला गया था बताया जा रहा है कि इस दरवाजे के पीछे जाने वाला रास्ता समुंदर की ओर जाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here