मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी में बढ़ी बीजेपी की मुश्किलें , अपना दल के साथ गठबंधन खतरे में

0
1061
up polls difference between apan dal anupriya and bjp on rohaniya seat of varanasi

जहाँ एक तरफ यूपी में चुनावी घमाशन मचा हुआ हैं तो वही दूसरी तरफ बीजेपी में आंतरिक घमशान मचा हैं जो की थमने का नाम नहीं ले रहा हैं | पहले दूसरे पार्टी से आये नेताओं को को टिकट देने से पार्टी के अन्दर अच्छा खासा तनाव हैं और जमीनी कार्यकर्ता नाराज हैं तो वही अब अपना दल से गठबंधन पर बीजेपी नेता सवाल उठाने लगे हैं | दरअसल, वाराणसी के पिंडरा विधानसभा क्षेत्र जहां बीजेपी ने अभी तक अपना उम्मीदवार नहीं उतारा है। दरअसल, बीजेपी ने इस सीट को अपना दल को दी हुई है लेकिन अब यहां बीजेपी के नेतागण अपनी पार्टी के उम्मीदवार को लेकर अपनी दावेदारी जता रहे हैं।

up polls difference between apan dal anupriya and bjp on rohaniya seat of varanasi

ये हैं वजह –

कहा जा रहा हैं की जिस तरह से अपना दल के प्रत्याशी रोहनिया सीट में बीजेपी उम्मीदवार घोषित होने से हडकंप मचाते हुए उस सीट में अपनी दावेदारी घोषित कर रहे थे तो वही अब बीजेपी कार्यकर्त्ता पिंडरा सीट पर अपनी दावेदारी को लेकर अड़े हुए हैं | इससे पहले अपना दल की अनुप्रिया पटेल ने रोहनिया सीट पर अपने प्रत्याशी को बीजेपी से टिकट देने की मांग की थी।

ये कहा बीजेपी नेताओ ने –

पिंडरा क्षेत्र से आये बीजेपी कार्यकर्ताओं ने खुलकर बीजेपी नेता अवधेश सिंह को पिंडरा सीट से बीजेपी का प्रत्याशी जल्द से जल्द घोषित करने की मांग की और इस संबंध में ज्ञापन भी पीएम मोदी के संसदीय कार्यालय में दिया। जिसके चलते दोनों बीजेपी-अपना दल गठबंधन पर आंच आती दिख रही है।

जाहिर हैं जहाँ पे एक तरफ पीएम मोदी सहित बीजेपी के सारे नेता यूपी में दिन रात रैली करके उसे अपना बनाने में लगे हुए हैं तो वही दूसरी तरफ बीजेपी में फूट बढ़ती चली जा रही हैं | पहले अमेठी में एक साथ 392 बूथ प्रेसिडेंटो ने इस्तीफ़ा दिया तो वही लखनऊ में कार्यकर्ताओ ने राजनाथ सिंह के घर के बाहर प्रदर्शन किया और इसके बाद अपना दल से विवाद | जाहिर हैं कही बीजेपी को ये आंतरिक घमाशन उसको यूपी में कमजोर ना कर दे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here