प्रियंका गाँधी को अपनी किताब गिफ्ट करने से सोशल मीडिया में ट्रोल हुई गुरमेहर कौर

0
1200

गुरमेहर कौर को आप जानते ही होंगे क्योकि एक समय पर गुरमेहर ने बड़े बड़े नेताओं की बोलती बंद करके युद्ध के बारे में अपनी एक सटीक राय दी थी और इसके लिए उनका विरोध भी हुआ था जिसकी वजह से वो काफी चर्चा में आई थी | लेकिन एक बार फिर से गुरमेहर कौर चर्चा में है जिसकी वजह है प्रियंका गाँधी से उनकी मुलाकात | दरअसल छात्र कार्यकर्ता और लेखक गुरमेहर कौर ने हाल ही में प्रियंका गांधी से मुलाकात की और उन्हें अपनी लिखी किताब भेंट की। गुरमेहर कौर की किताब स्मॉल एक्ट्स ऑफ फ्रीडम पिछले साल आई थी जिसे काफी पसंद किया जा रहा है। ये किताब उनके घर की तीन महिलाओं पर आधारित है जिन्होंने अपनी तरीके से लड़ाई लड़ आजादी हासिल की। हाल ही में गुरमेहर ने ये किताब प्रियंका गांधी को भेंट की। उन्होंने सोशल मीडिया पर प्रियंका के साथ अपनी फोटो भी पोस्ट की है।

Gurmeher Kaur trolled on social media by gifting her book to Priyanka Gandhi

ये लिखा गुरमेहर ने –

गुरमेहर ने लिखा, ‘मेरी किताब एक बेटी और उसके पिता, जिसने देश की सेवा में अपनी जान कुर्बान कर दी, द्वारा छोड़ी गई यादों के बारे में है। ये किताब एक अकेली मां के बारे में है जिसने अपने पति की विरासत आगे बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।’ गुरमेहर ने आगे लिखा, ‘अपनी फेवरेट इंसान को ये किताब देते हुए मेरी एक तस्वीर। जब भी जिंदगी में घुटन होने लगती है या परेशानियां बढ़ने लगती हैं तो मैं इन्हें देखती हूं। जब लगता है तो मेरी भावनाएं कोई नहीं समझेगा तो मैं इनसे मिलती हूं, ये हमेशा समझती हैं।’

सोशल मीडिया में ऐसे हुयी ट्रोल –

गुरमेहर का प्रियंका गांधी के साथ फोटो शेयर करना ट्रोल्स को बर्दाश्त नहीं हुआ और उन्होंने फोटो पर घटिया कमेंट करने शुरू कर दिए। एक ने लिखा कि किताब बेचने के लिए ड्रामा शुरू कर दिया। वहीं एक ने उनके पुराने वीडियो को लेकर लिखा कि, ‘तुम वही हो न जिसने लिखा था कि मेरे पिता को पाकिस्तान ने नहीं, लड़ाई ने मारा है। तुमने अपने पिता की शहादत का अपमान किया।’ एक यूजर ने लिखा कि गुरमेहर ने लाइमलाइट में आने के लिए अपने पिता की शहादत का फायदा उठाया।

Gurmeher Kaur trolled on social media by gifting her book to Priyanka Gandhi

कुछ ऐसे आई थी चर्चा में

गुरमेहर कौर तब चर्चा में आईं थीं जब उन्होंने डीयू कॉलेज में एबीवीपी द्वारा की गई गुंडागर्दी के खिलाफ बोला था। एबीवीपी डीयू में उमर खालिद और शहला राशिद को बुलाने के खिलाफ था और जमकर हंगामा काटा था। गुरमेहर ने इसके खिलाफ आवाज उठाते हुए एक वीडियो शेयर किया था। एबीवीपी के खिलाफ बोलने पर गुरमेहर के खिलाफ पूरी भाजपा मैदान में उतर आई। किरन रिजिजू ने तो उन्हें पाकिस्तान से भी जोड़ दिया। गुरमेहर के झूठे वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल किए गए लेकिन वो अपनी बात पर खड़ी रहीं। प्रतिष्ठित टाइम मैगजीन ने उन्हें अगली जेनरेशन के टॉप 10 लीडर्स में चुना।

Previous articleस्टेज पर भारत के माइकल जैक्सन को टक्कर देने के लिए उतर गई थी श्रीदेवी फिर जो हुआ
Next articleश्री देवी की मौत के 12 दिन बाद खुल गया उनकी मौत के पीछे का राज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here