बुआ मायावती ने बबुआ अखिलेश के लिए जीत बाद भेजी ये महगी कार, बबुआ ने कहा थैंक यू, योगी खेमे में हलचल

0
1046

यूपी में अब सपा-बसपा गठबंधन के बड़े चर्चे है इसके साथ देशभर की राजनीति में अब खलबली मची हुई है क्योकि इस गठबंधन को आगामी लोकसभा चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है |

कहते है ना, राजनीति के मंच पर हर चीज जायज है और यहां कभी भी, कुछ भी हो सकता है तो वैसी ही कर दिखाया माया और अखिलेश के साथ ने। yजीत का परचम लहराने के बाद अखिलेश बाबा अपनी मुंहबोली बुआ के घर पर जब उनसे मिलने पहुंचे तो मीडिया जगत सक्रिय और कयासों का दौर जारी हो गया।

बुआ ने भिजवाई ब्लैक मर्सिडीज – ऐसा पहली बार हुआ था कि अखिलेश यादव इस तरह से मायावती से मिलने पहुंचे थे। खबर तो ये भी है कि मायावती ने खुद अखिलेश के लिए ब्लैक मर्सेडीज कार भिजवाई थी। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने बुधवार की शाम करीब सात बजे राज्यसभा सांसद संजय सेठ के साथ मॉल एवेन्यू स्थित मायावती के आवास पर जाकर उनसे मुलाकात थी। दोनों की मुलाकात 45 मिनट तक चली थी।

mayawati sends expensive car to akhilesh yadav after winning election

हालांकि दोनों दल के नेताओं के बीच क्या बात हुई यह अभी सामने नहीं आया है। मीटिंग के बाद अखिलेश यादव लाल टोपी पहने ही माया के आवास से बाहर आए और मीडिया से बिना कोई बातचीत किए कार में बैठकर वापस चले गए। गौरतलब है कि गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में जीत के बाद पूर्व मुख्यमंत्री और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा ने जनता से वादा करके वादाखिलाफी की, जिसका जवाब मतदाताओं ने दिया। उन्होंने कहा कि वो किसान, मजदूर नौजवान और हर वर्ग के लोगों का धन्यवाद करते हैं। अखिलेश यादव ने कहा कि देश की महत्वपूर्ण लड़ाई में मायावती और बहुजन समाज पार्टी ने समर्थन दिया है, इसके लिए हम उनका आभार व्यक्त करते हैं।

Akhilesh and Mayawati, who came together to forget 23-year-old antagonism because of this man

2019 में नजर –

ऐसी हलचल है कि इस जीत के बाद सपा और बसपा साल 2019 के लोकसभा चुनावों में भी साथ नजर आ सकते हैं और अगर ऐसा हुआ तो ये सियासी समीकरण को बदल सकता है। हालांकि इस बारे में सपा के कद्दावर नेता रामगोपाल वर्मा ने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। उन्होंने कहा कि ये फैसला पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव करेंगे, हम अभी इस बारे में कोई टिप्पणी नहीं कर सकते हैं।

Modi's big statement in this work we are ahead

योगी खेमे में हलचल –
जाहिर है की इस जीत के बाद योगी सरकार को एक बड़ा झटका लगा है और उनके नेतृत्व पर सवाल उठाया जा रहा है क्योकि जिस तरह से पूर्ण बहुतमत की सरकार यूपी में बनी थी उसे देखकर लग रहा था की ये चुनाव आसानी से निकल जाएगा | चुनाव के परिणामो से घबराएं योगी ने आज कोई सभा या काम नहीं किया बल्कि वो दिनभर पार्टी के बड़े नेताओ के साथ चर्चा करने में जुटे रहे |

Previous articleमार्च में चार दिन तक लगातार बंद रहेगे बैंक, साथ ही केंद्र के कर्मचारियों का इन्तजार हुआ खत्म, अप्रैल से मिलेगी बढ़ी हुई सैलरी
Next articleसंसद भवन की छत में चढ़कर सांसद ने लहराया पोस्टर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here