इंसानियत: अन्नदाताओ के लिए मुंबई में खाना और पानी लेकर आये लोग

0
617

आज के समय में तरह तरह की नकारात्मक खबरों और भागते समाज के बीच कही ना कही इंसानियत जीवित है और इसका जीता जागता उदाहरण देखने को मिला आज मुंबई में | जब पैदल मार्च कर रहे किसान आज भारी संख्या में मुंबई पहुचे तो लोगो ने उनके लिए खाने पीने की व्यवस्था पहले से कर रखी थी | मुंबई के सिख समुदाय और रेसीडेंट असोसिएशन सड़कों पर किसानों के लिए पानी, बिस्कुट, नमकीन और पोहा लेकर आए | नासिक से तकरीबन 35,000 किसान मुंबई पहुंचे है। 180 किलोमीटर की यात्रा पैदल तय कर मुंबई पहुंचे इन किसानों का लोगों ने खुले दिल से स्वागत किया। मुंबई के लोगों ने सड़कों पर उतरकर किसानों को खाना और पानी दिया। अखिल भारतीय किसान सभा ने मुंबई के लोगों द्वारा दी गई मदद की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर कीं। सोशल मीडिया पर मुंबई के लोगों द्वारा किसानों की मदद की तस्वीरें काफी शेयर की जा रही हैं। अलग-अलग समुदाय के लोग किसानों के मदद को आगे आ रहे हैं। मुंबई के बाईकुला जंक्शन पर मुस्लिम समुदाय के लोग किसानों के लिए खाने और पानी का इंतजाम किए मौजूद रहे। किसानों ने कहा है कि वो अपना प्रदर्शन एकदम शांतिपूर्ण तरीके से करेंगे। सभा के अध्यक्ष अशोक धावले ने कहा कि, ‘इस प्रदर्शन से मुंबई को किसी भी तरह की परेशानी का सामन नहीं करना पड़ेगा। हम अपनी रैली सुबह 11 बजे से शुरू करेंगे ताकि 10वीं बोर्ड में बैठ रहे छात्रों को इससे कोई परेशानी न हो।’ किसानों ने रात को 1 बजे से सुबह 6 बजे तक सियोन से आजाद मैदान का सफर तय किया जिससे एसएससी की परीक्षा में बैठने वाले छात्रों को कोई परेशानी न हो। किसानों ने 180 किलोमीटर की यात्रा पैदल तय की है, जिससे कई किसानों के पैर में चोटें आईं है। सोशल मीडिया पर लोग बड़ी संख्या में किसानों की तस्वीरें शेयर कर रहे हैं और मांग कर रहे हैं उनकी डिमांड पूरी की जाएं।

People brought food and water in Mumbai for farmers

अपने अधिकारों की माग कर रहे –

जाहिर है की नासिक से मुंबई आये ये किसान सरकार से कर्जमाफी की माग कर रहे है जिसका वादा सरकार ने चुनाव के दौरान दिया था | किसानो का कहना है की आये दिन प्रदेश में किसान आत्महत्या कर रहे है जिसकी सबसे बड़ी वजह कर्जा है और हमें इस कर्जे से मुक्ति मिलनी चहिये | वही किसानो के समर्थन में और कई सारे संगठन आ चुके है | जा एक तरफ किसान रैली कर रहे है तो वही बीजेपी आलाकमान का अभी तक कोई बयान सामने नहीं आया है और कहा जा रहा है की देवेन्द्र फडनवीस ने उन्हें जल्दी से कर्ज से राहत देने की घोषण कर सकते है | आपको बता दे की ये मार्च आल इंडिया किसान महासभा के बैनर तले हो रही है |

Previous articleबड़ी खबर: बैंक घोटालो पर सख्त हुआ RBI, बैंको के लैटर आफ अंडरटेकिंग पर लगाई रोक
Next articleमुख्यमंत्री के आश्वासन के साथ वापिस लौटेगे किसान, वापिस जाने के लिए किया गया स्पेशल ट्रेनों का इंतजाम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here