40 लाख की घडी पहनते है सिद्धारमैया, कोई कैसे कह दे की वो भ्रष्टाचार में शामिल नहीं: अमित शाह

0
665

बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह कर्नाटक दौरे पर हैं। सोमवार को अमित शाह ने अपनी पहली जनसभा शिवमोगा में की। इस मौके पर उन्‍होंने कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि वह 40 लाख की घड़ी पहनते हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि उनके राज में कितना भ्रष्‍टाचार हुआ है। सभा में अमित शाह ने बीएस येदुरप्‍पा को कर्नाटक का भावी सीएम बताया।

अमित शाह ने सिद्धारमैया सरकार पर केंद्र की योजनाओं को लागू न करने का भी आरोप लगाया। बीजेपी अध्‍यक्ष ने कहा कि केंद्र सरकार ने गरीबों के हित के लिए 112 योजनाएं बनाईं, लेकिन सिद्धारमैया सरकार इन योजनाओं को जमीन तक नहीं पहुंचने दे रही है।

Siddaramaaya wear a watch of 40 lakhs, how can someone say that he is not involved in corruption: Amit Shah

किसान के घर खाया खाना –
जनसभा से पहले अमित शाह राष्ट्रकवि कुवेम्पु के घर और स्मारक पर गए। उन्होंने कहा कि अगर कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया ने कुवेम्पु का साहित्य पढ़ा होता तो वह राज्य को कभी ऐसे रास्ते पर नहीं ले जाते। शिवमोगा जनसभा से पहले अमित शाह ने एक किसान के घर भोजन किया और भोजन के बाद उन्होंने पान-सुपारी भी खाई। अमित शाह ने सुपारी किसानों के बीच में कहा कि दुनिया की आधी सुपारी भारत में और भारत की आधी सुपारी कर्नाटक में होती है, लेकिन कांग्रेस ने कभी इन किसानों पर ध्यान नहीं दिया।उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार ने सुपारी किसानों के हितों में कभी नीतियां नहीं बनाईं, जबकि पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए सरकार ने सुपारी का न्यूनतम समर्थन मूल्य तय किया और इसके आयात पर शुल्क लगाया।

सिद्ध्गंगा मठ के स्वामी से की मुलाकात –

अमित शाह अपने दो दिन के दौरे पर सोमवार को कर्नाटक पहुंचे हैं। हाल में कर्नाटक की कांग्रेस सरकार के लिंगायत-वीरशैव समुदाय को धार्मिक अल्‍पसंख्‍यक का दर्जा देकर केंद्र सरकार के पास प्रस्‍ताव भेजने के बाद शाह का ये दौरा काफी अहम माना जा रहा है। सोमवार को भी शाह सबसे पहले तुमकुर के सिद्धगंगा मठ पहुंचे और मठ के स्वामी श्री श्री श्री शिवकुमार स्वामी से मुलाकात की। सिद्धगंगा मठ लिंगायत समुदाय से जुड़ा बड़ा मठ है।

अमित शाह ने इस मुलाकात को लेकर ट्वीट किया और बताया कि उन्हें स्वामी जी का आशीर्वाद मिला। शाह ने लिखा है कि स्वामी जी को देखकर ईश्वर की अनुभूति हुई। स्वामी जी का आशीर्वाद हमारी ताकत बढ़ाने वाला और हमें ऊर्जा देने वाला है।अमित शाह का शिवामोग्गा में नारियल उत्पादकों के सम्मेलन में भाग लेंने और राष्ट्रकवि कुवेम्पु के घर जाने का भी कार्यक्रम है। मंगलवार को मदारा चेन्नैया मठ, शाह बेक्किनकल, सिरगेरे और मुरुगा सहित कई मठों का दौरा करेंगे। लिंगायतों को भाजपा को वोटर माना जाता रहा है। बीजेपी ने लिंगायत समुदाय से आने वाले बीएस येदियुरप्पा को अपना मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित कर रखा है लेकिन कांग्रेस सरकार के लिंगायतों को अल्पसंख्यक का दर्जा देकर इस प्रस्ताव को केंद्र के पास भेजने के बाद भाजपा को अपने इस परंपरागत वोटबैंक के कांग्रेस की तरफ जाने का डर सता रहा है।

Previous articleएक बार फिर शुरू हुआ अन्ना का अनशन, इस बार कोर टीम से भरवाया राजनीति में ना आने का एफिडेविट
Next articleमुश्किल में मोदी सरकार, 10 लाख डॉक्टर करेगे सरकार के खिलाफ़ हड़ताल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here