चाचा भतीजे क रार में डूब सकती हैं सपा की जीत की नैया

0
675

यूपी विधानसभा चुनाव की तारीखे बस आने ही वाली हैं और हर कोई अपना सिक्का मजबूत करने में लगा हुआ हैं चाहे वह कोई सी भी पार्टी हो लेकिन सपा में एक बार फिर दो गुट बनते नजर आ रहे हैं जो की सपा को इतना नुकसान पंहुचा सकते हैं की उसकी हार हो जाय तो आइये जानते हैं |

SP uncle nephew feud can sink the winning boat

गौरतलब हैं की शिवपाल यादव ने मुलायम संघ को 175 उम्मीदवारों की लिस्ट दी हैं और अखिलेश ने 403 उम्मीदवारों की लिस्ट दी हैं जो की अलग अलग हैं | सपा की इन दोनों लिस्ट को लेकर सबसे अधिक नुक्सान पूर्वांचल में हो रहा हैं | यहाँ की 130 सीटो में से 70 पे सपा का कब्ज़ा हैं और और सत्ता उसीको मिलती हैं जिसकी पूर्वांचल में सबसे अधिक सीट होती हैं | बाहुबली मुख्तार अंसारी के भाई का टिकेट काटने से वह चुनाव तो लड़ेगे लेकिन सपा से नहीं और ऐसे में वह कौएद से चुनाव लड़ सकते हैं और सपा को भयंकर नुकसान होगा क्योकि मुख्तार अंसारी मुस्लिम में एक बड़ा वोट बैंक हैं |

अखिलेश ने पहले ही बना ली सेना –

वही अखिलेश ने अपनी सेना बना ली हैं और 403 लोगो की लिस्ट मुलायम को सौंप दी हैं और उनकी सेना का कहना हैं की उन्हें सपा की पारिवारिक कलह से कोई मतलब नहीं हैं और वह अखिलेश को फिर से सीएम बनाकर ही रहेगे |

कैसे होगा नुकसान –

जाहिर हैं की दो लिस्ट बनी हुई हैं एक अखिलेश की और दूसरी शिवपाल की तो ऐसे में किसी एक चुनने से बाकी बचे हुए निर्दलीय चुनाव लड़ेगे और पार्टी के खिलाफ प्रचार करेगे जो की सपा की जीत से पहले ही बहुत बड़ी हार हो जाएगी | तो ऐसे मी माना जा रहा हैं की सबकी निगाहें मुलायम सिंह पे टिकी हुई हैं की वह इन दो सूचियों का क्या निर्णय निकालते हैं और कैसे फिर से चाचा और भतीजे को पास पास लाते हैं |

लम्बा पारिवारिक विवाद –

हाल ही में सपा में एक बहुत ही बड़ा पारिवारिक विवाद हुआ जो की जगजाहिर हैं और उससे भी सपा को काफी नुकसान हुआ तो ऐसे में चुनावी माहौल के दौरान सपा में छिड़ी ये रार उसकी चुनावी नैया डूबा के ही रहेगी |

Previous articleफेसबुक के मदद से एक 82 वर्ष के लापता बुजुर्ग पहुंचे अपने घर।
Next articleसपा – कांग्रेस के गठबंधन की खबर से मायावती को मुस्लिम वोट ना मिलने का डर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here