बेटियों को समझाओ तो वो सुरक्षित हो जायेगी: मोदी

0
676

राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस कार्यक्रम में हिस्सा लेने प्रधानमंत्री मोदी मध्य प्रदेश के मंडला पहुंचे। वहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आदिवासी विकास योजना, राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान का शुभारंभ किया। इसके अलावा प्रधानमंत्री ने मंडला के मनेरी में 120 करोड़ की लागत से एलपीजी बॉटलिंग प्लांट का शिलान्यास भी किया। कार्यक्रम में महामहिम राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय पंचायती राज मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी मौजूद रहे। कार्यक्रम में अपने संबोधन की शुरुआत पीएम मोदी ने स्थानीय गोंडी बोली में लोगों के अभिवादन से की। पीएम ने कहा कि हम सभी मां नर्मदा की गोद में इकट्ठा हुए हैं और मां नर्मदा की कृपा हमेशा लोगों पर बनीं रही है। गांव के विकास, उत्थान के लिए पंचायत के साथ प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार पूरे प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि हमें गांधी के सपनों को पूरा करने का अवसर मिला है। गांधी कहते थे भारत की पहचान गांवों से है।

लोगो को गाँव से जोड़ना होगा-

मंडला में पीएम मोदी ने कहा कि मुझे खुशी है कि मैं राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के दिन यहां आया हूं। बापू हमेशा ही पंचायती राज और ग्राम स्वराज के महत्व को बताते थे।वहीं प्रधानमंत्री ने अमरावती की सरपंच और शहडोल की सरपंच को सम्मानित किया। देशभर के 900 से ज्यादा पंचायतों के प्रतिनिधि इस कार्यक्रम में शामिल हुए। PM ने कहा कि गांव के लोगों और हमारे सपने जुड़ेंगे तभी देश आगे बढ़ेगा। हम सभी को कुछ ऐसा करना चाहिए जिससे आने वाली पीढ़ी की ज़िंदगी में बदलाव आए। उन्होंने कहा कि एक जमाना था कि बजट की चिंता होती थी, लेकिन अब चिंता है कि बजट का इस्तेमाल सही तरीके से कैसे हो। हमें अपने गांव के लिए कुछ करने का संकल्प करना चाहिए।

PM ने कहा कि गांव के लोगों और हमारे सपने जुड़ेंगे तभी देश आगे बढ़ेगा

सरकार सिर्फ पैसा दे सकती है-

प्रधानमंत्री ने कहा कि हर किसी को कोशिश करनी चाहिए कि गांव का हर बच्चा पढ़े क्योंकि सरकार सिर्फ पैसा-स्कूल-टीचर-बैग दे सकती है लेकिन आपको बच्चों को प्रोत्साहित करना होगा। पीएम मोदी ने कहा कि पहली बार योजनाबद्ध तरीके से आदिवासी वर्ग के लिए काम होंगे। गांवों का विकास भी व्यवस्थित तरीके से किया जाएगा। गांवो में सड़क, स्टॉप डैम, पानी की उपलब्धता, बिजली आदि सभी का काम व्यवस्थित तरीके से की जाएगी। किसानों को आत्मनिर्भर बनाना सरकार का लक्ष्य है।

'सरकार सिर्फ पैसा-स्कूल-टीचर-बैग दे सकती है लेकिन आपको बच्चों को प्रोत्साहित करना होगा'

राक्षसी काम करने वाले को मिलेगी फांसी-

प्रधानमंत्री ने इस दौरान हाल में POCSO एक्ट में किए गए बदलाव के बारे में भी कहा। उन्होंने कहा कि जो भी राक्षसी काम करेगा, उसे फांसी पर लटकाया जाएगा। आज की केंद्र सरकार लोगों की भावनाओं को समझती है और उसके हिसाब से निर्णय ले रही है। ये एक सामाजिक बदलाव है, हमें अपने लड़कों को भी समझाना होगा। बेटों को बेटियों की इज्जत करना सिखाना होगा।

Previous articleक्या है महाभियोग जिसे कांग्रेस सभी दलों के साथ लाना चाहती है
Next articleनए विहिप अध्यक्ष का अयोध्या भ्रमण, साथ में विनय कटियार के विवादित बोल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here