बीजेपी के ये रणनीति कांग्रेस को गुजरात में कर सकती हैं चित

0
763

गुजरात चुनाव अपने उफान पर हैं और लगातर नई नई चीज खुलकर सामने आ रही हैं | जहाँ एक और हार्दिक पटेल की सीडी जारी करके बीजेपी ने कांग्रेस को झटका दिया वही दूसरी और बीजेपी एक ऐसा मास्टर प्लान बना रही हैं जिसके चलते कांग्रेस को गुजरात में हार का मुह देखना पद सकता हैं |

bjp new plan to defeat congress in gujrat

क्या हैं प्लान –

पार्टी की क्या रणनीति है, जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक नामांकन प्रक्रिया के बाद पार्टी पूरी तरह चुनाव के सक्रिय मूड में जाना शुरू होगी और चुनाव प्रचार की धार आखिरी वक्त तक लगातार तेज होती जाएगी। पार्टी को लगता है कि अकेले नरेंद्र मोदी ही जब गुजरात में डेरा डालेंगे तो कांग्रेस का सफाया होता दिखने लगेगा। मोदी की करीब 50 धुआंधार रैलियों की तैयारियां की जा रही हैं और इन रैलियों के जरिए वो पूरे गुजरात का दौरा करेंगे। ये भी ध्यान रखा जा रहा है कि उनकी ज्यादा रैलियां बीजेपी के कमजोर इलाकों में हों जहां कांग्रेस अपना प्रभाव जमाने की कोशिश कर रही है। इनमें वे इलाके हैं जहां हार्दिक पटेल, अल्पेश ठाकोर और जिग्नेश अपने दबदबे का दावा कर रहे हैं।

ये भी हैं प्लान का हिस्सा –

इसके अलावा करीब एक दर्जन मंत्रियों को गुजरात में डेरा डालना है जिनमें गुजरात के पुरुषोत्तम रूपाला,मनसुख मंडविया तो हैं ही, इनके साथ ही केंद्रीय रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण, रामविलास पासवान, प्रकाश जावड़ेकर, जे.पी.नड्ढा, स्मृति ईरानी भी जुटेंगे। यही नहीं कई मुख्यमंत्रियों के भी दौरे होंगे। इनकी सभाएं जातिगत समीकरणों को ध्यान में रखकर की जाएगी ताकि ओबीसी, दलित और पाटीदार समाज में पैठ बनाई जा सके। यही नहीं प्रमुख चेहरों के अलावा दो सौ नेताओं की टीम भी गुजरात चुनाव में मुस्तैद रहेगी जिनमें केंद्र से संगठन के पदाधिकारियों के अलावा दूसरे प्रदेशों से आए मंत्री और पदाधिकारी शामिल हैं।

ये चुनाव में माहिर हैं –

ये वो लोग होंगे जो चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते हैं। ये तो पार्टी की वो रणनीति है जिससे चौतरफा कांग्रेस पर हमला होगा और राहुल गांधी की टीम को कुछ ही दिनों में बेअसर किया जा सकेगा। इसके अलावा कुछ मास्टर स्ट्रोक हैं जो चुनाव की पूरी हवा बदलेंगे। इन मास्टर स्ट्रोक बीजेपी के सूत्र संकेत तो दे रहे हैं लेकिन खुलकर बोलने को तैयार नहीं है। दरअसल उन्हें भी पूरी तरह से जानकारी नहीं है। बस इतना जान रहे हैं कि तुरुप के पत्ते हैं जो खुलेंगे तो चुनाव की हवा ही बदल जाएगी।

हलाकि अभी तक आकड़ो के मुताबिक कांग्रेस खुद को जीता हुआ बता रही हैं जिसकी सबसे बड़ी वजह हैं हार्दिक पटेल अक कांग्रेस के साथ आना लेकिन मोदी और कई बड़े केन्द्रीय मंत्रियों की धुआधार रैली से एक बार इर गुजरात बीजेपी की झोली में जा सकता हैं |

Previous articleगुजरात चुनाव : राहुल बोले मैं शिव भक्त , सच्चाई में विश्वास रखता हूँ
Next articleडेंगू के मच्छर से बचने के लिए अपने घर में रखें सिर्फ यह दो चीज़

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here