केजरीवाल की माफ़ी से पार्टी में बवाल, इकलौते संसद भगवंत मान ने दिया इस्तीफ़ा, सिद्धू ने भी घेरा

0
754

पूर्व मंत्री विक्रम मजीठिया से माफ़ी मागने पर अरविन्द केजरीवाल बुरे फस चुके है और अपनी ही पार्टी से बगावत कर बैठे है | कई पार्टी नेता कजरीवाल के इस कदम की खुलकर निंदा कर रहे हैं। इसी बीच आप के पंजाब के अध्यक्ष और एकलौते लोकसभा सांसद भगवंत मान ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। भगवंत मान ने फेसबुक पर खुद इस्तीफे की जानकारी दी।

kejriwal in trouble after sorry letter

बगावत के साथ इस्तीफे – भगवंत मान ने लिखा मैं आम आदमी पार्टी की प्रधानगी से इस्तीफा दे रहा हूं लेकिन पंजाब में ड्रग माफिया के खिलाफ लड़ता रहूंगा। पंजाब में हो रहे भ्रष्टाचार के खिलाफ पंजाब का एक आम आदमी बनकर लड़ता रहूंगा। एक सच्चा पंजाब होने के नाते जंग जारी रहेगी। इसके बाद से पंजाब की राजनीति में खलबली मच गई है। आम आदमी पार्टी में भी हड़कंप मचा हुआ है। जानकारों के मुताबिक पंजाब आम आदमी पार्टी में नेताओं ने केजरीवाल के खिलाफ बगावत कर दी है।  आपको बता दें कि अरविंद केजरीवाल ने लिखित माफीनामे में लिखा था ‘मैंने चुनाव प्रचार के दौरान की गई रैलियों में कई बार आप पर (मजीठिया पर) ड्रग रैकेट चलाने का आरोप लगाया था। यह राजनीतिक मसला बन गया था। अब मुझे पता चला कि मेरे द्वारा लगाए गए सभी आरोप बेबुनियाद हैं। इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।’

कई नेताओ ने किये केजरीवाल पर हमले –

अरविन्द केजरीवाल के इस कदम को कई सारे नेताओ ने गलत बताया है | कांग्रेस से विधायक और पंजाब में मंत्री नवजोत सिध्हू ने कहा है की केजीरवाल डरपोक हैं, उन्होंने एक ड्रग माफिया के आगे घुटने टेक दिए हैं। ये पंजाब की जनता के साथ धोखा है, उन्हें जनता माफ नहीं करेगी। अब आम आदमी पार्टी का अस्तित्व खतरे में हैं क्योंकि उनके नेता ही डर गए हैं। तो वही आम आदमी पार्टी के पंजाब के नेता सुखपाल सिंह खैरा ने ट्वीट कर कहा, ‘अरविंद केजरीवाल के माफी मांगने से हम पूरी तरह स्तब्ध हैं। हमें इस बात को स्वीकार करने में कोई गुरेज नहीं है कि हमसे इस बारे में कोई चर्चा नहीं की गई।’ तो वही इस वक्त केजरीवाल के बड़े आलोचकों में से एक उनके पुराने साथी कुमार विश्वास ने भी तीखी प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया कि एकता बाँटने में माहिर है , खुद की जड़ काटने में माहिर है , हम क्या उस शख़्स पर थूकें जो खुद, थूक कर चाटने में माहिर है !

ये था मामला – पंजाब में चुनाव प्रचार के दौरान केजरीवाल ने अकाली दल के नेता बिक्रम मजीठिया को ड्रग माफिया बताया था। जिसके बाद अकाली नेता ने केजरीवाल के खिलाफ मानहानि का केस कर दिया था। इसी केस की सुनवाई के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को माफी मांग ली, जिसके बाद केजरीवाल आलोचनाओं के घेरे में है।

Previous articleबीजेपी की मुश्किलें बढी, अब इस सहयोगी पार्टी ने भी बदले अपने सुर, चंद्रबाबू ने भी अरुण जेटली पे लगाया आरोप
Next articleइस अभिनेता के साथ शादी करना चाहती थी माधुरी दीक्षित, क्लिक कर देखे तस्वीरे …..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here