कांग्रेस के दामन पर लगे है मुसलमानों के खून के दाग: सलमान खुर्शीद

0
627

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के डॉ. बीआर आंबेडकर हॉल में आयोजित वार्षिकोत्सव में छात्रों से संवाद किया। इसी दौरान उनसे सीधे सवाल जवाब किए। इसी दौरान आमिर मिंटोई नाम के छात्र ने सलमान खुर्शीद से सवाल पूछा कि कांग्रेस के दामन पर मुसलमानों के खून के जो धब्बे हैं, इन धब्बों को आप किन अल्फ़ाज़ों से धोना चाहेंगे?
muslims blood stains on congress says salman khurshid

ये बोले सलमान-

सलमान खुर्शीद छात्र के सवालों से बचते नजर नए, लेकिन सवालों से बचते हुए भी सलमान खुर्शीद यह गए की कांग्रेस का नेता होने के नाते मुसलमानों के ख़ून के यह धब्बे मेरे अपने दामन पर हैं। सलमान खुर्शीद ने छात्रों से अपील की कि गुजरे वक्त के कुछ सीखो।

छात्र ने पूछा था ये सवाल-

दरअसल, छात्र ने सलमान खुर्शीद से कहा की- साल 1947 में देश की आजादी के बाद ही 1948 में एएमयू एक्ट में पहले संशोधन, 1950 प्रेसिडेंशल ऑर्डर, जिसमें मुस्लिम दलितों से एसटी/एससी आरक्षण का हक छिना गया। इसके बाद हाशिमपुरा, मलियाना, मेरठ, मुज़फ्फरनगर, मुरादाबाद, भागलपुर, अलीगढ़ आदि में मुसलमानों के नरसंहार हुआ। इसके अलावा बाबरी मस्जिद के दरवाजे खुलना, बाबरी मस्जिद में मूर्तियों का रखना और फिर बाबरी मस्जिद की शहादत जो कि कांग्रेस की नरसिम्हा राव सरकार में हुई।

इन घटनाओं का हवाला देते हुए छात्र ने सलमान खुर्शीद से सवाल किया था। इसी कार्यक्रम में कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने ‘इसी यूनिवर्सिटी के वीसी लॉज में पैदाइश हुई थी, लेकिन मुझे इस बात का अफसोस है कि मेरी तरबियत यहां से नहीं हुई।’

कांग्रेस ने झाड़ा पल्ला-

कांग्रेस ने पार्टी नेता सलमान खुर्शीद के बयान से पल्ला झाड़ लिया है। आज एक प्रेस वार्ता में पीएल पुनिया ने कहा कि पार्टी खुर्शीद के बयान से असहमत है। पुनिया ने कहा कि हर किसी को पता होना चाहिए कि स्वतंत्रता से पहले और बाद में दोनों कांग्रेस ही एक पार्टी है जिसने जनता के सभी वर्गों को साथ ही साथ धार्मिक और जातीय अल्पसंख्यकों को लेकर एक समतावादी समाज बनाने की दिशा में काम किया है।

जबकि हिंदुत्व की लड़ाई लड़ रहीए है कांग्रेस –

कांग्रेस ने नेता ने बयान दिया जिससे लगता की पार्टी मुस्लिमो के खिलाफ है जबकि कही ना कही जनता की नजरो में कांग्रेस हिंदुत्व की लड़ाई लड़ रही है| इंद्रा गांधी से लेकर राहुल गाँधी तक यहाँ तक की पंडित जवाहरलाल नेहरु को भी एंटी हिन्दू नजरो से देखा जा रहा है| आज कही ना कही बीजेपी हिंदुत्व के दमपर आज सत्ता में है| बीजेपी के सत्ता में आनी के बाद कही ना कही कांग्रेस को मुस्लिमो के साथ बताया जा रहा है और ऐसे में कांग्रेस के पूर्व कानून मत्री का ऐसा बयान आना कही ना कही सही नहीं है और इससे कांग्रेस को भारी नुकसान होगा|

Previous articleबहुत जल्द टीम में वापसी करेगा हैदराबाद का यह खिलाडी
Next articleमोदी का नया नारा, बीजेपी नेताओं से बेटी बचाओ- राहुल गाँधी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here